फन से बन गयी बात, गूगल में मिली 1. 2 करोड़ की नौकरी

By | March 29, 2019

रिपब्लिक डेस्क: इंसान को मौका उनके काम से मिलता है. किसी बड़े संस्थान में पढ़ाई करने से नहीं. मुबंई के 21 साल के अब्दुल्ला खान इंजीनियरिंग के स्टू़डेंट हैं. जिन्हें गूगल से नौकरी की ऑफर मिला है. बता दें, वह सितंबर में 1.2 करोड़ रुपये के सालाना पैकेज पर गूगल के लंदन के ऑफिस में शामिल होंगे. भले ही वह आईआईटी में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण नहीं कर सके लेकिन गूगल में उनको जो सैलरी पैकेज ऑफर हुआ है, उसका सपना हर आईआईटियन देखता है. खान ने मुंबई के एक इंजीनियरिंग कॉलेज से पढ़ाई की है.

नौकरी के लिए आवेदन तक नहीं किया

कमाल की बात ये हैं उन्होंने गूगल की नौकरियों के लिए आवेदन नहीं किया था. कंपनी के द्वारा उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया गया था. जब उन्होंने “प्रतिस्पर्धी प्रोग्रामिंग चुनौतियों” (competitive programming challenges) को होस्ट करने वाली साइट पर खान की प्रोफाइल देखी. जिसके बाद उन्हें गूगल से कॉल आया.

यह है पैकेज

खान को जो पैकेज मिला है, उसमें से 54.5 लाख रुपये सालाना तो उनकी बेस सैलरी है। इसके अलावा 15 फीसदी बोनस और चार सालों तक के लिए 58.9 लाख रुपये की कीमत का स्टॉक ऑप्शन शामिल है। फिलहाल वह बीई (कंप्यूटर साइंस) के फाइनल इयर में हैं. वह सितंबर में गूगल की साइट रिलायबिलिटी इंजिनियरिंग टीम में शामिल होंगे. अब्दुल्ला खान ने ऐसा नहीं किया. वह IIT के छात्र नहीं है फिर उन्हें गूगल ने एक करोड़ रुपये से ज्यादा का पैकेज ऑफर किया है.

आईआईटी करने का सपना था पर नहीं कर पाये

लाखों छात्रों का सपना होता है कि उन्हें गूगल, फेसबुक और माइक्रोसॉफ्ट जैसी शीर्ष वैश्विक कंपनियों में काम करने का मौका मिले. ऐसे में वह IIT में एडमिशन लेने के लिए दिन रात मेहनत करते हैं और अगर वह IIT में एडमिशन लेने में असफल हो जाते हैं तो उन्हें लगता है कि वह कभी एक बड़ी कंपनी में नौकरी नहीं कर सकते, ऐसे में वह अपना सपना छोड़ देते हैं. लेकिन खान ने साबित कर दिया कि हुनर की ही कद्र होती है.

फन में बन गयी बात

“टाइम्स ऑफ इंडिया” की रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने बताया कि गूगल के कॉल की मुझे कोई उम्मीद नहीं थी. ये कॉल मेरे लिए अचानक से आया था. खान ने कहा- जब उन्होंने प्रतियोगिता में भाग लिया, तो उन्होंने नौकरी की उम्मीद नहीं की, बल्कि मजे के लिए मैंने प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था. पिछले नवंबर में उन्हें गूगल की ओर से एक आधिकारिक ईमेल प्राप्त हुआ. जिसके बाद खान की जिंदगी पूरी तरह से बदल गई. ईमेल ने उन्हें सूचित किया गया था कि कंपनी ने वेबसाइट पर उनकी प्रोफाइल देखी है और वे पूरे यूरोप के लोगों की तलाश कर रहे हैं. इसके बाद कुछ ऑनलाइन इंटरव्यू हुए. जिसके बाद फाइनल स्क्रीनिंग के लिए लंदन में Google के कार्यालय में गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.